13 दवाओं के सैंपल फेल, दवा कंपनियों में हड़कंप

बद्दी। दवा का हब कहे जाने वाले हिमाचल प्रदेश में बनी दवाओं के सैंपल मानकों पर खरे नहीं उतर रहे हैं। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) के ताजा जारी ड्रग अलर्ट में देशभर की 42 दवाओं में से हिमाचल प्रदेश के उद्योगों में बनने वाली 13 दवाओं के सैंपल फेल मिले हैं। इनमें से औद्योगिक क्षेत्र बीबीएन के उद्योगों के 9, सिरमौर की तीन और परवाणु की एक दवा कंपनी के सैम्पल फेल हुए हैं। सीडीएससीओ के अलर्ट के बाद बद्दी के दवा नियंत्रक नवनीत मारवाहा ने हिमाचल की फार्मा कंपनियों को नोटिस जारी कर पूरा बैच बाजार से हटाने के आदेश जारी कर दिए हैं और सख्त कार्रवाई की बात कही है।
वहीं, सैंपल फेल होने से दवा कम्पनियों में हड़कंप मचा हुआ है। बता दें कि एशिया में बिकने वाली 35 फीसदी दवाएं हिमाचल में बनाई जाती हैं। सोलन क्षेत्र में बड़ी संख्या में दवा कंपनियां हैं। फेल दवाओं के सैंपल सब जोन बद्दी, ईस्ट जोन कोलकाता, सब जोन गोवा से लिए गए हैं। इनकी जांच सीडीएल कोलकाता, आरडीटीएल चंडीगढ़ की लैबोरेट्री में कराई गई है। फेल दवाएं एंटीबायोटिक, बुखार, गैस, लीवर, दर्द निवारक, कैल्शियम, विटामिन, माउथ वॉश, मांसपेशियों में खिंचाव को ठीक करने वाली हैं। गौरतलब है कि पिछले पांच माह में सूबे में बनीं 57, जबकि बीते वर्ष सौ से ज्यादा दवाओं के सैंपल फेल हुए थे।
Advertisement

1 COMMENT

  1. Pharma industry me B Pharmacy D Pharmacy ki jagh ITI Bsc or graduate ladke ladkiya bharti kiye jate h taki salry kam di ja sake jiske karn aaj ye sample fail ho rhe h…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here