हार्ट अटैक से पहले अलर्ट करेगी ‘डिजिटल नर्स’ 

नई दिल्ली। हार्ट अटैक अक्सर लक्षण दिखने के कुछ घंटों के अंदर ही होता है। अस्पताल पहुंचने में देरी पर मरीज की मौत भी हो जाती है। सही समय पर अस्पताल पहुंचाकर हृदय रोगियों की मृत्यु दर को आधा किया जा सकता है। यह तभी संभव है जब हार्ट अटैक के लक्षणों का सही समय पर पता लग जाए। ‘सेव’ एप की डिजिटल नर्स ऐसे मामलों में लोगों की सहायता करेगी। ऑस्ट्रेलिया की फ्लिंर्डस यूनिवर्सिटी ने यह एप विकसित किया है। सेव एप में ‘कोरा’ नाम की डिजिटल नर्स का इस्तेमाल किया गया है। कोरा आपको हृदयघात के लक्षणों की पहचान करने और लक्षण दिखने पर क्या करना चाहिए, इसकी जानकारी देगी। इस एप का परीक्षण हार्ट अटैक से बचे दस मरीजों पर किया गया। फिर 70 मरीजों ने ट्रायल के तौर पर छह महीनों के लिए एप का इस्तेमाल किया। इस दौरान पता लगाया गया कि प्रतिभागियों ने कितनी बार एंबुलेंस बुलाई या अस्पताल में भर्ती हुए। शोध के अनुसार एप इस्तेमाल करने वालों ने लक्षण दिखने पर अन्य के मुकाबले अधिक बार एंबुलेंस बुलाई।
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here