आमने-सामने हुए केमिस्ट और ड्रग अधिकारी

बठिंडा: शहर के सिविल अस्पताल में आयोजित होल-सेल और रिटेल दवा विक्रेता की बैठक में तीनों जोन के ड्रग इंस्पेक्टरों ने उपस्थित होकर दवा धंधे में जरूरी बदलावों की जानकारी दी। ड्रग अधिकारियों ने जहां दवा विके्रताओं को नशीली और प्रतिबंधित दवाओं से पूरी तरह दूर रहने का आग्रह किया तो वहीं दवा व्यापारियों ने ड्रग विभाग में लंबित पड़े मामलों का निपटारा करने की अपील की। गौरतलब है कि जीएसटी कानून लागू होने का बहुत ज्यादा असर दवा कारोबार पर भी पड़ा है। हालांकि तीन-चार रोज पूर्व जीएसटी के बदलने नियमों से दवा के रिटेल और होलसेल विके्रताओं में खुशी है कि अब महीने में तीन बार रिटर्न के झंझट से छुटकारा मिलेगा। दीवाली से ठीक पहले सरकार ने तिमाही रिर्टन का तोहफा देकर दवा कारोबार में भी रौनक बढ़ा दी।

बैठक में मौजूद तीनों जोन के ड्रग इंस्पेक्टर शिशन मित्तल, ओंकार सिंह और जयजयकार सिंह ने मौजूदा समय के नियमों में हुएबदलावों के बारे मे विस्तार से सभी दवा विके्रताओं को जानकारी दी। साथ ही हिदायत दी कि नियमों की अवहेलना करने पर ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट और अन्य कानूनी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा। दवा विक्रे्रताओं के लंबित मामलों पर ड्रग इंस्पेक्टरों ने कहा कि फाइलों को जल्द निपटाया जाएगा। पेडिंग मामलों में ज्यादातर चेंज ऑफ क्वालिफाइड पर्सन, लाइसेंस रिन्यूवल के हैं। बैठक में केमिस्टों में आर डी गुप्ता, दर्शन सिंह जौड़ा, जसबीर सिंह महाराज, कृपा शंकर भदानी, डीवी गर्ग, संदीप गर्ग, संदीप सिडाना, अनिल गर्ग, अजय कुमार, अमृत कुमार, संदीप गोयल, कृष्ण गोयल समेत केमिस्ट एसोसिएशन के अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here