नशीली दवाएं बेचते क्लीनिक संचालक को दबोचा

छतरपुर। पुलिस ने नशीली दवाओं के गोरखधंधे का पर्दाफाश करते हुए शहर में डेरा पहाड़ी के पास स्थित एक क्लीनिक संचालक को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपी संचालक के क्लीनिक से 15 शीशी नशीली दवाएं जब्त की हैं। थाना पुलिस ने नशीली दवाएं मिलने पर उसे गिरफ्तार करते हुए नारकोटिक्स के तहत कर्रवाई की है। सिविल लाइन टीआई विनायक शुक्ला ने बताया कि काफी दिनों से डेरा स्थित एक क्लीनिक पर नशीली दवाएं बिकने की जानकारी आ रही थी। जानकारी अनुसार पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर एक क्लीनिक पर छापामार कार्रवाई करते हुए नशीली दवाएं बेचते डॉ. योगेंद्र नायक को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि थाना क्षेत्र के डेरा पहाड़ी के समीप खुले इस क्लीनिक से वहां के युवाओं को यह नशीली दवाएं बेचीं जा रही थीं। नशीली दवाएं बेचने के आरोप में योगेंद्र को गिरफ्तार करते हुए नारकोटिक्स अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है। इस कार्रवाई के दौरान एएसपी जयराज कुबेर सहित थाना पुलिस मौजूद रहे। पुलिस ने बताया कि आरोपी क्लीनिक संचालक से थाना इस मामले में पूछताछ कर रही है। इस पूछताछ से नशीली दवाएं कहां से आती हैं और कहां-कहां पर सप्लाई की जाती हैं, इस बात का खुलासा होने की संभवना है। इस छापामार कार्रवाई के दौरान थाना पुलिस ने 15 शीशी प्रतिबंधित दबाओं की बरामद की हैं। जिले में नशीली दवाओं के सेवन से हो रहे अपराधों को रोकने के लिए पुलिस अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग ने कलेक्टर के आदेश पर मेडिकल स्टोरों पर छापामार कार्रवाई कर नशीली दवाओं की जांच की। पिछले माह स्वास्थ्य विभाग के ड्रग इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार जैन, एएसपी जयराज कुबेर, सीएसपी आरआर साहू व सिटी कोतवाली टीआई संधीर सिंह चौधरी ने छापामार कार्रवाई की शुरुआत पठापुर रोड स्थित सिद्धार्थ मेडिकल स्टोर से शुरू की। यहां पर नशीली दवाओं की चैकिंग करने के बाद यह टीम दोपहर बाद छत्रसाल चौराहे पर पहुंची। यहां पर टीम ने वर्धमान मेडिकल, त्रिपाठी मेडीकल, रावत मेडीकल, राज मेडिकल, महाजन मेडीकल स्टोरों की चैकिंग की थी। इस कार्रवाई के दौरान टीम को सफलता हासिल नहीं हुई।
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here