लाखों की दवाइयां नाली में बहा डाली

 गुड़गांव। जहां एक ओर सरकारी अस्पतालों में मरीज दवाओं के लिए भटकते रहते हैं वहीं, दूसरी ओर स्वास्थ्य विभाग की लाखों रुपये की दवाएं एक्सपायर्ड हो रही हैं। हाल ही में पीएचसी, सीएचसी में गर्भवती महिलाओं के लिए भेजी जाने वाली आयरन की दवा और परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत बांटे जाने वाले कंडोम सेक्टर-10 सिविल हॉस्पिटल के स्टोर में पड़े-पड़े एक्स्पायर्ड हो गए। आनन-फानन में कर्मचारियों ने आयरन की बोतलों को बाल्टी में खाली करके नाली में डाल दिया। साथ ही कंडोम को भी डिस्कार्ड कर दिया। सेक्टर-10 सिविल हॉस्पिटल में जरूरतमंदों को फ्री दी जाने वाली लाखों रुपये की दवा एक्सपायर्ड होकर खराब हो गई। 80 आयरन की पेटियों में 12 हजार से ज्यादा दवा की बोतलें बेकार हो गईं। पता चलने पर तुरंत कर्मचारियों को आदेश दिए गए कि इन दवाओं को जल्द से जल्द डिस्कार्ड कर दिया जाए। इसके बाद दवा को नाली में डाल दिया गया। साथ ही कंडोम को भी डिस्कार्ड कर दिया। इस मामले में एसएमओ डॉक्टर प्रदीप कुमार ने बताया कि जिस जगह पर फिलहाल कैथ लैब बनी है, वहां पहले दवा का वेयरहाउस था। लैब बनने के बाद वेयरहाउस को शिफ्ट कर दिया गया। शिफ्टिंग के समय ये दवा बच गई होंगी, इसलिए छत पर रख दी गईं। इन दवाओं की जानकारी मिली है जांच के लिए कमिटी गठित कर दी गई है।
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here