इस सस्ती दवा से भूलने की बीमारी पर लगेगी रोक  

नई दिल्ली। मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए एक ऐसी सस्ती दवाई तैयार की गई है जो ध्यान केंद्रित नहीं कर पाने और स्मरण क्षमता कमजोर होने जैसी समस्याएं दूर कर सकती है। न्यूरोक्लब के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी फिलिप मट्र्ज का कहना है कि आज किसी काम पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाने, सीखने में कठिनाई और याददाश्त कमजोर होने जैसी मानसिक समस्याएं पूरी दुनिया में मौजूद हैं। लिहाजा मानसिक स्वास्थ्य में सुधार पर अधिक ध्यान देना समय की मांग है। सिग्ना 360 वेल-इीइंग के सर्वे के अनुसार 10 में लगभग 9 भारतीय तनावग्रस्त हैं और विश्व स्वास्थ्य संगठन का दावा है कि 3.6 करोड़ भारतीयों में अंदर से घबराहट (एंक्जाइटी) की समस्या है, लेकिन इनमें अधिकांश इसके लिए विशेषज्ञ की मदद नहीं लेते हैं क्योंकि इससे उनके सामाजिक सम्मान में बट्टा लगेगा और फिर इस इलाज का खर्च भी अधिक है।
कंपनी के मुख्य वैज्ञानिक अधिकारी (वाशिंगटन डीसी) डॉ. श्रीरमण दामोदरन ने बताया कि विडंबना है कि अधिकांश लोग अपने मानसिक स्वास्थ्य पर ध्यान नहीं देते हैं जबकि यह हमारा सबसे महत्वपूर्ण अंग है। शरीर के अन्य अंगों की किसी समस्या का निदान लोग जानते हैं पर किसी काम पर ध्यान केंद्रित नहीं कर पाने या बेवजह तनाव होने की समस्या के बावजूद यह नहीं समझते कि इस मानसिक समस्या से अन्य कई गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। फिलिप मट्र्ज ने बताया कि आज हर इंसान के काम में तनाव का माहौल और विद्यार्थियों पर पढ़ाई का दवाब है इसलिए खास कर युवा पीढ़ी के लिए न्यूरोक्लब प्रोडक्ट्स का सेवन करना जरूरी है। सबसे बड़ी बात यह है कि इसके पूर्ण रूप से प्राकृतिक उत्पादों का सेवन आप कभी भी कर सकते हैं और उनका असर आप जल्द ही महसूस करेंग।
Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here