फार्मेसी कौंसिल के चुनाव में धांधली का आरोप

अलवर। राजस्थान स्टेट फार्मासिस्ट एसोसिएशन की ओर से प्रदेश के फार्मासिस्टों को भिजवाए गए मतपत्रों को जबरन खाली वापस लेने की प्रथा बंद कराने की मांग को लेकर जिलाध्यक्ष हरेंद्र पाठक के नेतृत्व में फार्मासिस्टों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया गया कि फार्मेसी कौंसिल के 6 सदस्यों के लिए चुनाव कराए जा रहे हैं। इसमें केमिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारी और औषधि संगठन के अधिकारी भी एक ही पैनल में मिलकर चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि चुनाव में मतदाता फार्मासिस्ट हैं।

इनमें से 30 हजार फार्मासिस्ट ने मेडिकल स्टोर खोल रखे हैं। ऐसी स्थिति में औषधि नियंत्रण अधिकारी मेडिकल स्टोर संचालक फार्मासिस्टों को कार्रवाई का डर दिखाकर मतपत्रों को खाली मंगवा सकते हैं। औषधि नियंत्रण अधिकारी और केमिस्ट साथ में मीटिंग कर रहे हैं, जिस पर उन्हें धमकाया जा रहा है। ऐसी स्थिति में औषधि नियंत्रण अधिकारियों के पद के दुरुपयोग पर रोक लगाने की मांग की है। एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष सर्वेश्वर शर्मा ने भी चुनाव में अलोकतांत्रिक तरीकों पर रोक लगाने की मांग की है।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here