चिकित्सा-स्वच्छता की जुगलबंदी से प्रशस्त होगी रोगमुक्ति की राह

By: अनिल कुमार
Feb 10 2017

नई दिल्ली: बेहतर इलाज के साथ परहेज के नुस्खों से मरीजों के कुशल स्वास्थ्य की कामना करने वाला राजधानी का सफदरजंग अस्पताल इन दिनों स्वच्छता अभियान में जुटा है। एक फरवरी से शुरू हुए पंद्रह दिवसीय अभियान के अंतर्गत नुक्कड़ नाटक, मानव शृंखला, वाद-विवाद प्रतियोगिता, सेमिनार, जागरुकता रैली, गोष्ठियोंं के माध्यम से मरीजों और उनके सहायकों को स्वच्छता का संदेश दिया जा रहा है। अस्पताल परिसर में पर्यावरण और स्वच्छता को बढ़ावा देने वाले आकर्षक स्लोगन लिखे पोस्टर जगह-जगह चस्पाए गए हैं।


अस्पताल में सेवारत्त ऑल इंडिया गवर्नमेंट नर्स फेडरेशन (एआईजीएनएफ) की दिल्ली अध्यक्ष प्रेमरोज सूरी ने बताया कि अलग-अलग दिवस पर होने वाले कार्यक्रमों में अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक/अधिकारी एवं पर्यावरणविद् लोगों को विस्तार से स्वच्छता के महत्व का ज्ञान दे रहे हैं। संक्रमण रोकथाम कमेटी की सदस्य एवं सीनियर नर्स प्रेमरोज की मानें तो इलाज मिलने वाली जगह जितनी स्वच्छ होगी, रोगी को उतना ही शीघ्र स्वास्थ्य लाभ मिलेगा। मीडिया के माध्यम से अकसर देखने में आया है कि अस्पतालों में गंदगी कीवजह से संक्रमण होने से मरीजों के तीमारदार भी रोगग्रस्त हो जाते हैं, साथ ही चिकित्सा भी प्रभावित होती है। बेहतर आहार, स्वच्छ वातावरण हो तो चिकित्सा के शत-प्रतिशत नतीजे सामने आते हैं। अस्पताल के माइक्रोबायोलॉजी विभाग की ओपीडी के बाहर सैकड़ों की संख्या में उपस्थित लोगों को संकल्प दिलाया गया कि वह न केवल अस्पताल परिसर को स्वच्छ रखने में सहयेाग करेंगे बल्कि सार्वजनिक स्थलों तथा अपने घरों के आसपास भी लोगों को सफाई के प्रति जागरुक करेंगे।



Tags

चिकित्सा-स्वच्छता, रोगमुक्त, सफदरजंग अस्पताल, एआईजीएनएफ, पर्यावरणविद्




Add